ہندی خبریں

यह वतन सोने की चिड़िया है मगर वह खाक कर देगा ज़मीं ए हिंद के हर ज़र्रे को वह नापाक़ कर देगा

अररिया- शुक्रवार को जोकीहाट प्रखंड मुख्यालय के समीप ही स्थित थपकॉल में मदनी यूथ क्लब के तत्वावधान में सीएए एनपीआर & एनआरसी जैसे मुल्क को बांटने वाला कानून के खिलाफ विशाल जनसभा का आयोजन किया गया।
जिसमें हजारों की संख्या में महिलाएं, पुरूष और युवाओं समेत सभी वर्ग समुदाय के लोग विशाल जनसभा को ऐतिहासिक बनाने एवं मोदी-अमित के हिटलरशाही सरकार को हटाने के लिए एकजुट होकर मोदी हाय हाय हाय हाय हाय…. अमित शाह हाय हाय हाय हाय हाय हाय…. जैसे विरोधी नारे लगाते हुए हुंकार भरा।
इस जनसभा के मुख्य अतिथि व जोकीहाट विस से संभावित उम्मीदवार मौलाना अब्दुल्लाह सालीम क़मर चतुर्वेदी ने कहा संविधान ने हमें बराबरी का अधिकार दिया है। यहां बता दें कि बीते 22 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले चार सप्ताह टल जाने के बाद पहले के अपेक्षाकृत प्रर्दशनकारियों की संख्या बढ़ गई है। ऐसे वक्त में सरकार अपना पक्ष कैसे रख पाता है,वह देखने योग्य होगी।आर्टिकल 14 में यह कहा गया है कि हिंदुस्तान के किसी नागरिक के साथ जाति, धर्म , भाषा, क्षेत्र या रंग के बुनियाद पर भेदभाव नहीं किया जाएगा। लेकिन मौजूदा तानाशाही सरकार मुसलमानों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।इस मुल्क की आज़ादी में हज़ारों मुसलमानों ने कुर्बानी दी है। चतुर्वेदी ने कहा अगर आपसे नागरिक होने का प्रमाण मांगे तो आप उसे हमारे पुरखों की निशानी ताजमहल , लाल किला और कुतुबमीनार दिखाते हुए कहना हिंदुस्तानी होने का पुख्ता सुबूत है। हमारी पुरखों का जन्म इसी मिट्टी में हुआ। सवालिया लहजे में कहा यहीं जिये हैं, यहीं मरेंगे,तुम क्या कर लोगे! जनसभा को संबोधित करते हुए चतुर्वेदी ने कहा यदि आपसे कोई भारतीय होने का सुबूत मांगे तो बिल्कुल ना दिखाएं और संकल्प लें कि हम कागज़ नहीं दिखाएंगे। जनसभा को आरटीआई कार्यकर्ता अबुज़र आलम, अबु सादिक , हाफिज अब्दुर्रहमान, मौलाना सरवर काशमी,फैयाज राही, महमूद क़मर आदि ने संबोधित किया।विशाल जनसभा को सफल बनाने में मदनी यूथ क्लब के सदस्यों समेत आयोजन कमेटी के तमाम लोगों का अहम योगदान रहा।

Urdutimes@123

ہندوستان اردو ٹائمز پر آپ سب کا خیر مقدم کرتے ہیں

جواب دیجئے

Back to top button
Close
Close