ہندی خبریں

भाकपा-माले व इंसाफ मंच ने क्वारेंटिन सेंटरों पर पहुंचाया भोजन सामग्री पैकेट।

शहर के कर्बला स्थित गरीबों के बीच भी पहुंचाया गया सूखा राहत सामग्री पैकेट।

भाकपा-माले, इंसाफ मंच,मुजफ्फरपुर*
———————————
*प्रेस विज्ञप्ति*
——————-
पंचायतों व मुहल्लों में स्थित क्वारेंटिन सेंटरों पर रह रहे प्रवासी मजदूरों की देखरेख पर जरूरी ध्यान दे सरकार – माले*

*मुजफ्फरपुर, 14मई 2020*

भाकपा-माले और इंसाफ मंच द्वारा संयुक्त रूप से शहर से गांव तक क्वारेंटिन सेंटरों पर रह रहे प्रवासी मजदूरों तक सूखा भोजन सामग्री पैकेट पहुंचाया गया है। साथ ही भुखमरी के शिकार गरीबों तक भी राहत सामग्री पैकेट पहुंचाने का सिलसिला जारी है। आज शहर के कर्बला स्थित दर्जनों गरीबों के बीच 10-10 किलो का सूखा भोजन सामग्री पैकेट पहुंचाया गया। वहीं बोचहां स्थित कर्णपुर दक्षिणी पंचायत तथा देवगन पंचायत स्थित क्वारेंटिन सेंटरों में रह रहे प्रवासी मजदूरों तक चूड़ा, चना, प्याज आदि का पैकेट पहुंचाया गया। इस दौरान मजदूरों व गरीबों से कोरोना बीमारी से बचाव हेतु सावधानी बरतने, आते- जाते परस्पर शारीरिक दूरी बरकरार रखने तथा मास्क अथवा कपड़े से नाक- मुंह ढंक कर रखने की भी अपील की गई।
राहत अभियान में इंसाफ मंच के राज्य उपाध्यक्ष आफताब आलम, माले जिला सचिव कृष्णमोहन सहित मतलुबूर रहमान रेयाज़ अहमद , रामबालक सहनी,शफीकुर रहमान, असलम रहमानी व अन्य कार्यकर्ता जुटे रहें। माले व इंसाफ मंच के द्वारा राहत अभियान आगे भी जारी रहेगा।
माले व मंच के कार्यकर्ताओं ने प्रशासन से मुहल्लों व पंचायतों के स्कूलों में स्थित क्वारेंटिन सेंटरों में पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों की देखरेख,भोजन तथा नियमित जांच पर जरूरी ध्यान देने की मांग की है। खासकर ग्रामीण क्षेत्रों के वैसे क्वारेंटिन सेंटरों पर प्रशासनिक लापरवाही बरकरार है जहां प्रवासी मजदूर ट्रेन से नहीं बल्कि ट्रक,बस,साइकिल या पैदल पहुंच रहें हैं।मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देशों के बावजूद भारी कुव्यवस्था कायम है।यहां तक कि उचित जांच भी नहीं हो पा रही है जो खतरनाक
है।

*कृष्णमोहन*
मुजफ्फरपुर जिला सचिव
*भाकपा-माले*

Urdutimes@123

ہندوستان اردو ٹائمز پر آپ سب کا خیر مقدم کرتے ہیں

متعلقہ خبریں

جواب دیجئے

Back to top button
Close
Close