ہندی خبریں

बिहार स्टेट सुन्नी वक़्फ बोर्ड के आदेशानुसार जिला कमेटी का हुआ पुनर्गठन, तेजतर्रार युवा कलमकार अब्दुल ग़नी लबीब को अध्यक्ष बनाया गया

अररिया- (अल्लामा ग़ज़ाली)
बीते कई महीनों से सुन्नी वक्फ बोर्ड की कमेटी भंग थी।बीते 20 जनवरी को बिहार स्टेट सुन्नी वक़्फ बोर्ड के आदेशानुसार पत्रांक 296/20 के तहत अररिया जिला सुन्नी वक्फ बोर्ड कमेटी का गठन कर जिले के तेजतर्रार युवा कलमकार अब्दुल ग़नी लबीब को अध्यक्ष पद के लिए मनोनीत किया है। जबकि ऐजाज़ अख्तर को जिला सचिव चुना गया है। उक्त जानकारी जिला कमेटी के नोडल अधिकारी सुबोध कुमार ने दी। अररिया जिला सुन्नी वक्फ बोर्ड के नोडल अधिकारी सुबोध कुमार ने बताया कि अररिया कमेटी भंग होने के बाद बिहार स्टेट सुन्नी वक्फ बोर्ड के सीईओ ने अब्दुल ग़नी लबीब को अररिया जिले का अध्यक्ष बनाया है।15 सदस्यीय कमेटी में मुफ्ती इनामुल बारी को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। जबकि कसैला, मदनपुर निवासी अब्दुल कलाम को अररिया जिला सुन्नी वक्फ कमेटी में बहैसियत उपाध्यक्ष के लिए चुना गया है।कई महीनों से भंग चल रही कमेटी के पुनर्गठन की सूचना देते हुए जिला वक्फ कमेटी के नोडल अधिकारी सह जिला अल्पसंख्यक कल्याण पदाधिकारी सुबोध कुमार ने बताया कि बीते 20 जनवरी को बोर्ड ने एक पत्र निर्गत कर युवा कलमकार अब्दुल ग़नी लबीब को जिलाध्यक्ष, जबकि ऐजाज़ अख्तर को जिला सचिव की जिम्मेदारी दी गई है।कुल 15 सदस्यीय समिति में 11 सदस्य हैं जबकि 4 पदधारकों में से मुफ्ती इनामुल बारी को कोषाध्यक्ष का प्रभार सौंपा गया है। जिला वक्फ सुन्नी कमेटी के नोडल अधिकारी सुबोध कुमार ने बताया कि कमेटी भंग हो जाने से वक्फ समिति को परेशानी का सामना करना पड़ रहा था।जबकि अन्य 11 सदस्यों का नाम अबु तालिब,मंजर आलम,तय्यब अहमद, मोहम्मद सलाहुद्दीन, दिलशाद, मोहम्मद अली, मुर्तजा, मुहम्मद शरीफ,इसराईल,मोजीब और शाहनवाज़ आलम शामिल है।

مزید پڑھیں

Urdutimes@123

ہندوستان اردو ٹائمز پر آپ سب کا خیر مقدم کرتے ہیں

متعلقہ خبریں

جواب دیجئے

Back to top button
Close
Close